मई WTI कीमतों में 99% की रिकॉर्ड गिरावट, जानिए क्यों गिरा क्रूड



Crude Price crash- India TV Paisa

Crude Price crash


नई दिल्ली। मांग न होने और लगातार सप्लाई हो रहे कच्चे तेल की वजह से स्टोरेज क्षमता के अपनी सीमा पर पहुंचने का सीधा असर क्रूड की फ्यूचर कीमतों पर पड़ा है। सोमवार के कारोबार में WTI क्रूड के मई कॉन्ट्रैक्ट की कीमतें 99 फीसदी से ज्यादा टूट कर 1 डॉलर प्रति बैरल से नीचे पहुंच गईं। 

मई कॉन्ट्रैक्ट मंगलवार को एक्सपायर हो रहा है। अगर मंगलवार के बाद भी कारोबारियों के पास कॉन्ट्रैक्ट रहते हैं तो उन्हें मई में क्रूड की डिलिवरी लेनी पड़ेगी। हालांकि कारोबारी मान रहे हैं कि फिलहाल मांग न होने और सप्लाई जारी रहने से क्रूड के रणनीतिक भंडार जल्द भर जाएंगे। ऐसे में अगर मई में क्रूड बैरल डिलिवर हुए तो कारोबारियों के पास उसे रखने की जगह नहीं रहेगी। इसी वजह से मई कॉन्ट्रैक्ट के खरीदार बाजार से गायब हैं और कीमत में तेज गिरावट दर्ज हुई है।  हालांकि दूसरी तरफ जून कॉन्ट्रैक्ट के लिए ब्रेंट क्रूड की कीमत अभी भी 25 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर बनी हुई है, दिन के कारोबार में उसमें 6% की गिरावट देखने को मिली है।

दुनिया भर में कच्चे तेल की मांग 30 फीसदी घट चुकी है। औऱ पिछले कॉन्ट्रैक्ट की वजह से सप्लाई हो रहे कच्चे तेल से ओकलाहोमा में स्थित अमेरिकी स्टोरेज फैसिलिटी के अगले कुछ हफ्ते में पूरा भर जाने की उम्मीद है। जानकारों के मुताबिक ओपेक देशों की कटौती का भी फिलहाल असर नहीं पड़ेगा क्योंकि कोरोना की वजह से मांग काफी गिर चुकी है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *