छठ के जिक्र पर बोली कांग्रेस- सिर्फ चुनाव के बारे में सोचते हैं प्रधानमंत्री मोदी


  • कांग्रेस- मुफ्त अनाज की योजना 3 महीने बढ़ाने का किया था अनुरोध
  • ‘भाषण में खासतौर पर छठ पर्व का जिक्र, वह सिर्फ चुनाव की सोचते हैं’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट के बीच राष्ट्र के नाम अपने छठे संबोधन में महामारी को देखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार नवंबर महीने के आखिर तक करने का ऐलान किया. इस फैसले पर कांग्रेस ने निशाना साधते हुए कहा कि नवंबर तक स्कीम का विस्तार बिहार में चुनाव को देखते हुए किया गया है.

पीएम मोदी के संबोधन के बाद कांग्रेस की ओर से उनके ऐलान पर हमला किया जाने लगा. कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि हमने प्रधानमंत्री से मुफ्त अनाज की योजना 3 और महीने बढ़ाने का अनुरोध किया था, जिसे उन्होंने मान लिया. इसकी हमें खुशी है, लेकिन उन्होंने साफ तौर पर यह इशारा किया कि यह नवंबर तक जारी रहेगा. इस दौरान उन्होंने खासतौर पर छठ पर्व का जिक्र किया यानी कि वह सिर्फ चुनाव की सोचते हैं.

यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि बिहार में अगले कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

कहां जा रहा है पैसाः कांग्रेस

सुप्रिया श्रीनेत ने राष्ट्र के नाम संबोधन में चीन का जिक्र नहीं किए जाने पर कहा कि हमें उम्मीद थी कि प्रधानमंत्री चीन के मुद्दे पर कुछ कहेंगे और उसे कड़ा संदेश देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें — पीएम मोदी बोले- दुनिया के देशों के मुकाबले भारत संभली हुई स्थिति में है

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार को वर्ल्ड बैंक से 1 बिलियन डॉलर, एशियाई विकास बैंक से 1.5 बिलियन डॉलर के अलावा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से 4 बिलियन डॉलर का कर्ज मिलने जा रहा है. साथ ही प्रधानमंत्री राहत कोष में 20 हजार करोड़ रुपये जमा हैं, लेकिन आम लोगों की राहत के लिए कुछ भी नहीं किया जा रहा है. यहां तक राज्यों को उनका बकाया भी नहीं मिल रहा, आखिर पैसा जा कहां रहा है.

इसे भी पढ़ें — बुल्गारिया के पीएम पर लगे जुर्माने की सुनाई कहानी, मोदी बोले- कोई भी नियमों से ऊपर नहीं

इससे पहले पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना से लड़ते हुए भारत में 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को 3 महीने का राशन, यानि परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त दिया गया. उन्होंने आगे कहा कि एक तरह से देखें तो, अमेरिका की कुल आबादी से ढाई गुना अधिक लोगों को, ब्रिटेन की आबादी से 12 गुना अधिक लोगों को, और यूरोपियन यूनियन की आबादी से लगभग दोगुने से ज्यादा लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त अनाज दिया है.

पीएम ने छठ तक बढ़ाई योजना

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां वर्षा ऋतु के दौरान और उसके बाद मुख्य तौर पर कृषि क्षेत्र में ही ज्यादा काम होता है. अन्य दूसरे क्षेत्रों में थोड़ी सुस्ती रहती है. जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का भी माहौल बनने लगता है. त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है.

इसे भी पढ़ें — जो कोरोना से बचने के लिए नियमों का पालन न करे उसे रोकना, टोकना होगाः पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए.

प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार से खर्च में बढ़ोतरी का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार से करीब 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे. इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दिया जाए तो यह करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपये हो जाता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *